वीर्य को जल्दी गिरने से रोकने के घरेलु उपाय, शीघ्रपतन रोकने के उपाय

शीघ्रपतन, shighrapatanशीघ्रपतन होना, वीर्य का जल्दी गिरना अगर आप भी इस समस्या से लड़ रहे हैं, तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे हैं, इसमें घबराने की कोई बात नहीं क्योकि आज हम आपकों शीघ्रपतन के घरेलु उपाय बताएंगे जो आपकों इस समस्या से निजात करा देंगे. इसीलिए टाइम खराब न करते हुए जल्दी से पोस्ट पढ़े.

शीघ्रपतन का घरेलु इलाज, Shighrapatan ka Gharelu ilaz Hindi

1. 100 ग्राम अश्वगंधा, 50 ग्राम मलहठी, और 200 ग्राम शतावर इन तीनों को पीसकर चूर्ण बना लें. और किसी साफ कपड़े से छानकर इसे किसी डब्बे में डाल लें. इस चूर्ण को सुबह-शाम आधा चम्मच मीठे दूध के साथ लेने से शीघ्रपतन की समस्या से राहत मिलती हैं.

2. आधा चम्मच पिसी हुई अजवायन और 1 चम्मच पिसी हुई  मिश्री को मिलाकर सुबह-शाम गुनगुने दूध के साथ लेने से भी वीर्य जल्दी गिरने की समस्या यानि शीघ्रपतन नही होता हैं.

3. बबूल के पत्ते, छाल, फल, गोंद और फूल को बराबर मात्रा में लेकर अच्छे से सुखा लें, और फिर इसे पीस लें. अब कपड़े से छानकर इसे किसी डब्बे में भरकर रख लें. इस चूर्ण को सुबह-शाम पानी के साथ एक चम्मच लेने से शीघ्रपतन का इलाज हो जाता हैं.

4. बेल की जड़ की छाल को जीरे के साथ पीसकर घी में मिलाकर सुबह-शाम पीने से वीर्य का पतलापन दूर होता हैं.

5. प्याज और अदरख का रस बराबर भाग में लेकर रोज सुबह-शाम शहद के साथ खाने से खोयी हुई जवानी लौट आती हैं.

6. केसर को दूध में कुछ दिनों तक डालकर दूध पीने से शीघ्रपतन दूर हो जाता हैं.

शीघ्रपतन होने के कारण, Shighrapatan Hone Ke Karan Hindi

1. टेंशन का अधिक लेना यानि depression.

2. गलत साहित्य पढ़ना मतलब गंदी किताबें या गंदी फिल्में देखना.

3.  हर वक्त दिमाग में गंदी चीजों के बारे में सोचना गंदे गंदे ख्याल लाना भी शीघ्रपतन का कारण हैं.

4. सही तरह का खान-पान न करना.

loading...
Loading...

AuthorAnkush Banger

I am Ankush Banger. सच कहूँ तो अभी ऐसे मुकाम पर गया नहीं हूँ. कि आपकों कुछ बता सकूँ. यही कारण हैं कि अभी तक हमारी वेबसाइट www.Hindiword.com पर About us पेज नहीं हैं.

2 thoughts on “वीर्य को जल्दी गिरने से रोकने के घरेलु उपाय, शीघ्रपतन रोकने के उपाय

  1. Jaldi virya niklne ka ka nd upchar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *